शायरी

खाली जेब

                               खाली जेब ने मुझे सिखाया है

 

             खाली जेब ने मुझे बहुत कुछ दिखाया है,
         दुश्मनो ने पीठ पीछे वार कर अपना रिश्ता बनाया है,
         पर अपनो ने तो गले लगाकर दिल पर तीर चलाया है।
                गिरगिट को रंग बदलते देखा था,
                जब अपनो को रंग बदलता देखा,
              तो मुझे इंसानियत पर रोना आया है।
         प्यार करने वालों ने भी खूब अंदाज़ में साथ निभाया है,
           रोता हुआ देखकर दूर से ही कदम पीछे हटाया है।
      भला करा जो भगवान तूने मुझे खाली जेब और अच्छे दिल के
                  साथ दुनिया मे भेजा,
          क्योंकि अच्छे दिल से ना मैने किसी का बुरा चाहा है,
         और खाली जेब ने मुझे जीने का सही ढंग सिखाया है ।।

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *