विचार

प्लास्टिक बैग और गरीब आदमी

             प्लास्टिक बैग और गरीब आदमी

 

प्लास्टिक बैग जो इण्डिया में ही नहीं पुरे वर्ल्ड में ही बैन हो गए है|
लेकिन इंडिया में अभी भी प्लास्टिक बैग यूज़ होता है| उसके कई कारण है और सबसे
बड़ा कारण गरीब आदमी हे| आप कहोगे गरीब आदमी कसे?

में उस गरीब आदमी की बात की बात कर रहा हु कुछ न कुछ बेच कर अपने घर का खर्चा चलाते हे| और सायद यही जरिया हे उसके परिवार के सदस्यों का पेट भरने का
और प्लास्टिक आम आदमी के जीवन का एक हिस्सा हे जब कोई व्यक्ति किसी फेरी वाले से या किसी मंडी में कुछ भी समान या सब्जी लेता हे तो वो कहता हे की पॉलथिन में डाल कर दो जब वो सब्जी या कुछ भी बेचने वाला कहता हे सहाब पॉलथिन नहीं हे तो ग्राहक उसका समान वही छोड़ कर चला जाता हे
यही कारण हे की एक सब्जी बेचने वाला आदमी पॉलथिन बैग का इस्तेमाल अपना समान बेचने के लिए करता हे
अब आप कहोगे की उसे वे बैग यूज़ करने चाहिए जो बेन नहीं हे सायद वो उसकी हैसियत के बहार हो| अगर पॉलथिन बैग यूज़ करे तो चलान का डर और न रखे तो उसका समान नहीं बिकेगा|

में एक किस्सा बताता हुँ जो मेरे सामने का हे में सब्जी बेचने वाले से कुछ सब्जिया ले रहा था उसने मेरे सब्जिया एक पॉलथिन बैग में डाल दी और तभी नगरपालिका वाले वहा आये और उसका चलान करने लगे वो उनके सामने गिड़गिड़ाया लेकिन वो नहीं माने और उसका 5000 का चलान कर दिया| ये होती हे नगर निगम की गुंडागर्दी

अगर सोचा जाये की जब पॉलथिन बैग बेन हे तो उसके पास कहा से आया सायद ये नगरपालिका की कमाई का एक साधन हे क्योकि पॉलथिन बेग की फैक्ट्रियां उनसे बंद होती नहीं और रॉब झाड़ते हे एक गरीब पर अगर नगरपालिका वाले फैक्ट्रियां ही बंद करवा दे तो पॉलथिन बनना ही बंद हो जायेगा

एक डाइलोक आप ने भी सुना होगा ये इंडिया है साहब

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *